स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार के लिए हो समयबद्ध नामांकन: डीएम

शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार द्वारा विद्यालय में स्वच्छ वातावरण एवं स्वच्छता अभ्यास के लिए दिया जाता है पुरस्कार

देवरिया (आशुतोष यादव): जिलाधिकारी आशुतोष निरंजन ने आज गूगल मीट के माध्यम से स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार के लिए नामांकन की समीक्षा की। बैठक में समस्त खंड शिक्षा अधिकारियों को पुरस्कार हेतु सभी विद्यालयों का नामांकन निर्धारित तिथि 31 मार्च से पूर्व सुनिश्चित कराने का निर्देश दिया। उन्होंने कहा कि नामांकन कार्य को प्राथमिकता के आधार पर किया जाये, लापरवाही मिलने पर कड़ी कार्यवाही की जाएगी। जिलाधिकारी श्री निरंजन ने बताया कि जनपद में ऑपरेशन कायाकल्प के तहत विद्यालयों में पर्याप्त कार्य किये गए हैं। विद्यालयों में स्वच्छ पेयजल की उपलब्धता, प्रसाधन सुविधा, साबुन से हाथ धोने, संचालन एवं रखरखाव तथा क्षमता निर्माण पर विशेष बल दिया गया है। प्रत्येक ब्लॉक में लगभग 15-15 ऐसे विद्यालय हैं, जो पुरस्कार के पैरामीटर पर फाइव स्टार रेटिंग प्राप्त करने का सामर्थ्य रखते हैं। उन्होंने अधिशासी अभियंता जल निगम को सभी विद्यालयों में पेयजल की गुणवत्ता के संबंध में प्रमाण पत्र उपलब्ध कराने का निर्देश दिया। जिलाधिकारी ने बताया कि स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार शिक्षा मंत्रालय भारत सरकार द्वारा स्कूलों में स्वच्छता और स्वच्छता अभ्यास में उत्कृष्टता के लिए प्रदान किया जाता है। जनपद के ग्रामीण एवं शहरी दोनों क्षेत्रों के सभी सरकारी सरकारी सहायता प्राप्त और निजी स्कूलों को स्वच्छ विद्यालय पुरस्कार के हेतु पंजीकरण किया जा रहा है। गूगल मीट बैठक में मुख्य विकास अधिकारी रवींद्र कुमार, बेसिक शिक्षा अधिकारी सन्तोष कुमार राय, अधिशासी अभियंता जल निगम, राज्य परियोजना कार्यालय स्तर निर्माण के यूनिट इंचार्ज मण्डलीय समन्वयक यूनिसेफ, समस्त खण्ड शिक्षा अधिकारी, समस्त जिला समन्वयक (एसएसए) समस्त एस०आर०जी० उपस्थित थे।

Sunil Kumar Dhangadamajhi

𝘌𝘥𝘪𝘵𝘰𝘳, 𝘠𝘢𝘥𝘶 𝘕𝘦𝘸𝘴 𝘕𝘢𝘵𝘪𝘰𝘯 ✉yadunewsnation@gmail.com

http://yadunewsnation.in
error: Content is protected !!