बीजेपी आज जारी कर सकती है उम्मीदवारों की पहली सूची

बीजेपी आज जारी कर सकती है उम्मीदवारों की पहली सूची

Lok Sabha Elections 2024: उम्मीदवारों की सूची जारी करने से पहले पीएम मोदी ने की थी चर्चा

भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) ने उम्मीदवारों की सूची जारी करने से पहले गुरुवार को देर रात तक केंद्रीय चुनाव समिति की बड़ी बैठक हुई थी. जिसमें प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के अलावा कई दिग्गज नेता शामिल थे. बैठक में उम्मीदवारों की पहली सूची को अंतिम रूप दिए जाने पर मंथन किया गया. पीएम मोदी के साथ बैठक में बीजेपी अध्यक्ष जेपी नड्डा और केंद्रीय मंत्री अमित शाह और राजनाथ सिंह शामिल थे. इसके अलावा उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ, गुजरात के मुख्यमंत्री भूपेन्द्र पटेल, मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री मोहन यादव, छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री विष्णु देव साय, उत्तराखंड के मुख्यमंत्री पुष्कर सिंह धामी और गोवा के मुख्यमंत्री प्रमोद सावंत शामिल थे.

पीएम मोदी ने 400 से अधिक सीट का रखा टारगेट

लोकसभा चुनाव 2024 की घोषणा से पहले ही प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चुनावी मोड में आ गए हैं. उन्होंने आम चुनाव में 400 से अधिक सीट जीतने का टारगेट रखा है. भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) के नेतृत्व वाले राष्ट्रीय जनतांत्रिक गठबंधन (राजग) ने अपनी विकास योजनाओं के दम पर मोदी के नेतृत्व में लगातार तीसरी बार केंद्र में सरकार बनाने का विश्वास व्यक्त किया है.

गौतम गंभीर और जयंत सिन्हा ने चुनाव नहीं लड़ने की जताई इच्छा

लोकसभा चुनाव को लेकर उम्मीदवारों की पहली सूची जारी होने से पहले ही बीजेपी सांसद गौतम गंभीर और जयंत सिन्हा ने चुनाव नहीं लड़ने की इच्छा जताई है. दोनों ट्वीट कर पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा से कार्यमुक्त करने का अनुरोध किया है. गंभीर ने एक्स पर पोस्ट किया और लिखा, मैंने पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा से मुझे मेरे राजनीतिक कर्तव्यों से मुक्त करने का आग्रह किया है ताकि मैं अपनी आगामी क्रिकेट प्रतिबद्धताओं पर ध्यान केंद्रित कर सकूं. मुझे लोगों की सेवा करने का अवसर देने के लिए मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह का आभार व्यक्त करता हूं. जय हिंद. वहीं जयंत सिन्हा ने शनिवार को कहा कि उन्होंने पार्टी अध्यक्ष जे पी नड्डा से प्रत्यक्ष चुनावी कर्तव्यों से उन्हें मुक्त करने का अनुरोध किया है.

लोकसभा चुनाव कराने के लिए निर्वाचन आयोग ने समीक्षा शुरू कर दी

निर्वाचन आयोग ने लोकसभा चुनाव कराने के लिए विभिन्न राज्यों की तैयारियों की समीक्षा शुरू कर दी है. साल 2014 में, आयोग ने पांच मार्च को नौ चरणों वाले लोकसभा चुनावों के कार्यक्रम की घोषणा की थी और परिणाम 16 मई को घोषित किए गए थे. साल 2019 में, आयोग ने 10 मार्च को सात चरण के लोकसभा चुनावों की घोषणा की थी और परिणाम 23 मई को घोषित किए गए थे.