तेरापंथ प्रोफेशनल फोरम साउथ कोलकाता स्प्रिचुअल वेबीनार “भक्तामर स्तोत्र की महिमा-2” कार्यशाला

तेरापंथ प्रोफेशनल फोरम साउथ कोलकाता स्प्रिचुअल वेबीनार “भक्तामर स्तोत्र की महिमा-2” कार्यशाला

कोलकाता (बर्धमान जैन): इसी महान विषय को ध्यान में रखते हुए तेरापंथ प्रोफेशनल फोरम साउथ कोलकाता ने समाज की जानी मानी मोटीवेटर डॉ सूरज बरड़िया से अनुरोध कर “भक्तामर स्तोत्र की महिमा-2” कार्यशाला के माध्यम से स्प्रिचुअल कार्यक्रम का आयोजन किया। इस वेबीनार द्वारा आचार्य मानतुंग रचित, तीर्थंकर ऋषभनाथ भगवान की स्तुति, अति प्रभावशाली और चमत्कारी मंत्र “भक्तामर स्तोत्र” के महत्व को समझने का प्रयास किया गया। यह प्रतिपादित किया गया कि भक्तामर स्तोत्र एक चमत्कारी संकट मोचक मंत्र है।

टीपीएफ साउथ कोलकाता के ओजस्वी और कर्मठ अध्यक्ष श्री आलोक चोपड़ा ने अपने अध्यक्षीय स्वागत व्यक्त्वय में सभी का हार्दिक अभिनंदन करते हुए “भक्तामर स्तोत्र की महिमा-2” कार्यशाला में सबका स्वागत किया। उन्होंने फोरम के मूल मंत्र “हमारा संघ, हमारा दायित्व” का संदर्भ देते‌ हुए “टीपीएफ परामर्श” के बारे में विस्तार से बताया कि यह आयाम समाज की मदद के लिए है और हम इसे “9916691313 व्हाट्सएप नंबर” पर रजिस्टर करके अपनी लीगल, टैक्सेशन, मेडिकल समस्या का सेकंड ओपिनियन ले सकते है। उन्होंने आगे और भी ऐसे कार्यक्रम करने की प्रेरणा दी।

इस कार्यक्रम की शुरुआत फोरम के संगठन मंत्री श्री सुमित नाहटा ने मंगलाचरण के पावन संगान से की। इसके पश्चात फोरम की सदस्या श्रीमती प्रियंका नाहटा ने कार्यशाला की प्रबुद्ध वक्ता “डॉ सूरज बरड़िया” का सभी से परिचय करवाया। इस कार्यशाला में डॉ सूरज जी ने बड़े ही सरल शब्दों में भक्तामर की महिमा का बखान कर उसे चितारने से होने वाले लाभ के बारे में बताया। भक्तामर स्तोत्र का एक-एक छंद हर प्रकार की समस्या, रोग-शोक, आदि-व्याधि, ग्रह क्लेश, मानसिक व शारीरिक पीड़ा अर्थात किसी भी प्रकार की कोई भी समस्या हो उसे क्षण भर में ही दूर करने में समर्थ है। इस कार्यशाला में उन्होंने तीसरे और चौथे श्लोक का भावार्थ सहित पाठन करवाया। उनकी दक्ष वाकपटुता एवं अद्भुत भावार्थ व्याख्या ने सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया।

कार्यक्रम में विशेष उपस्थिति टीपीएफ नेशनल टीम के ट्रस्टी श्री जयचंद मालू एवं सह कोषाध्यक्ष श्री नरेश कठोतिया, टीपीएफ साउथ कोलकाता के निवर्तमान अध्यक्ष श्री धर्मचंद धाड़ेवा एवं टीपीएफ पूर्वांचल कोलकाता के अध्यक्ष श्री प्रवीण सुराना की रही। कुल 74 जनों की उपस्थिति जूम पर रही। फोरम के सहमंत्री श्री मनीष सेठिया ने कार्यक्रम में पधारे हुए सभी अतिथियों, वक्ताओं, सदस्यों एवम अन्य संस्थाओं के गणमान्य व्यक्तियों का इस कार्यक्रम में पधारने के लिए अपनी संपूर्ण टीम की तरफ से आभार ज्ञापन किया और भविष्य में ऐसे और भी कार्यक्रम करने के लिए टीम की प्रतिबद्धता जताई। इस कार्यक्रम का अद्भुत संचालन टीपीएफ साउथ कोलकाता की फेमिना विंग संयोजिका श्रीमती कंचन सिरोहिया एवं श्री रोहित दूगड़ का रहा, जिनके अथक प्रयास से यह कार्यक्रम फलीभूत हो पाया।