वर्क प्लेस प्रेशर क्या दिमाग पर डाल रहा असर, समझना और उबरना दोनों है जरूरी

कार्यस्थल और मानसिक स्वास्थ्य का संबंध एक-दूसरे से गहरा होता है. कार्यस्थल ऐसी जगह है जहां परिवार के बाद कोई भी इंसान सबसे अधिक समय देता है और यह जगह उसके अपने रोजगार से जुड़ा होता है. कार्यस्थल का वर्ककल्चर किसी भी इंसान के स्वास्थ्य और तनाव पर बड़ा प्रभाव डालता है

कुछ तरीके जिनसे आप कार्यस्थल में मानसिक स्वास्थ्य को सुधार सकते हैं

सही बातचीत

सही बातचीतः खुली और संवेदनशील बातचीत, समर्थित साथियों और सुपरवाइजर्स के साथ संबंध बनाने में मदद कर सकती है. अगर आपको कुछ चिंताएं हैं, तो उन्हें साझा करने से आपको राहत मिल सकती है.

विश्राम और समय व्यवस्थाः

विश्राम और समय व्यवस्थाः काम के बीच में कुछ वक्त विश्राम करना और एक समय व्यवस्था बनाना मानसिक स्वास्थ्य को सुधारता है.

योग और मेडिटेशन

योग और मेडिटेशनः योग और मेडिटेशन आपको तनाव से निपटने और मन को शांत करने में मदद कर सकते हैं.

शारीरिक गतिविधियां

शारीरिक गतिविधियांः नियमित शारीरिक गतिविधियों करना, उचित आहार लेना और नींद पूरी करना भी स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है.

खुद को प्रोत्साहित करें

खुद को प्रोत्साहित करें‘ सफलता के बाद अपने आपको बधाई देना और स्वीकार करना महत्वपूर्ण है.

अवकाश और छुट्टी लेना

अवकाश और छुट्टी लेना: नियमित अवकाश और जरूरत पर छुट्टी लेना स्वास्थ्य को सुधारने में मदद करता है और उत्पादकता को बढ़ाता है.

डॉक्टर से परामर्श लें

सुसज्जित और सही वातावरण में काम करना भी स्वास्थ्य के लिए फायदेमंद होता है.ध्यान रखें कि मानसिक स्वास्थ्य के मुद्दे गंभीर हो सकते हैं, और यदि आपको किसी ऐसी समस्या का सामना करना पड़ रहा है तो बिना देरी डॉक्टर से परामर्श लें.

Sunil Kumar Dhangadamajhi

𝘌𝘥𝘪𝘵𝘰𝘳, 𝘠𝘢𝘥𝘶 𝘕𝘦𝘸𝘴 𝘕𝘢𝘵𝘪𝘰𝘯 ✉yadunewsnation@gmail.com

http://yadunewsnation.in
error: Content is protected !!