Kanjhawala Case: कंझावला हत्या मामले में खुले कई राज, इस वजह से आरोपियों ने नहीं रोकी थी कार

कंझावला मामले के आरोपियों ने रविवार को बड़ा खुलासा किया है. पुलिस की पूछाताछ में आरोपियों ने बताया कि कार के नीचे लड़की फंसी थी, ये उन्हें पता था. रिपोर्ट के मुताबिक आरोपियों ने बताया कि अंजलि को करीब 12 किमी तक घसीटा गया, क्योंकि आरोपियों को इस बात का डर था कि कहीं वे सीसीटीवी कैमरे की गिरफ्त में ना आ जाएं, जिससे वे फंस सकते हैं. इधर, अंजलि के परिजनों ने पुलिस की जांच पर सवाल खड़े किए हैं. परिजनों की मानें, तो अंजलि की दोस्त निधि इस मामले में काफी कुछ छिपा रही है.

आरोपियों ने कबूल की ये बात

पुलिस सूत्रों ने नवभारत टाइम्स को यह बताया कि, अंजलि के मौत मामले में गिरफ्तार 6 आरोपियों ने यह बात कबूल की है कि उन्हें कार के नीचे युवती के फंसे होने की जानकारी थी. उनके मुताबिक, आरोपियों ने कार को इसलिए आबादी वाले इलाके में नहीं रोका क्योंकि इससे वे सीसीटीवी में कैद हो सकते थे. इसलिए आरोपियों ने अंजलि को कंझावला इलाकें में कार से बाहर निकाला.

अंजलि के मोबाइल फोन से पुलिस करेगी जांच

वहीं, पुलिस सूत्रों की मानें, तो अंजलि के मोबाइल फोन से पुलिस अब जांच में जुटी है. इधर परिजनों का कहना है कि अजंलि ने कुछ दिनों पहले ही नया मोबाइल फोन खरीदा था. अंजलि के मोबाइल फोन से घटना वाले शाम से लेकर एक्सीडेंट तक की कई अहम जानकारियां मिल सकती है.

आरोपियों की रिमांड खत्म, आज कोर्ट में होगी पेशी

कंझावला मामले के सभी आरोपियों की पुलिस रिमांड आज खत्म हो रही है. सभी छह आरोपियों को आज कोर्ट में पेश किया जायेगा. बता दें कि जांच के दौरान पुलिस ने अंजलि के दोस्त निधि से भी पूछताछ की थी. निधि ने इस दौरान बताया था कि अजंलि ने नशे में स्कूटी चलाई थी. उसने बताया कि कार की टक्कर लगने के बाद अजंलि गांड़ी के नीचे आ गई थी. निधि ने आगे बताया कि हादसा देख निधि काफी डर गई थी और वह घर भागकर आ गई थी.

Sunil Kumar Dhangadamajhi

𝘌𝘥𝘪𝘵𝘰𝘳, 𝘠𝘢𝘥𝘶 𝘕𝘦𝘸𝘴 𝘕𝘢𝘵𝘪𝘰𝘯 ✉yadunewsnation@gmail.com

http://yadunewsnation.in
error: Content is protected !!