महाराष्ट्र कांग्रेस चीफ नाना पटोले बोले, लंपी रोग फैलाने के लिए नाइजीरिया से लाए गए चीते

नई दिल्ली: देश के कई राज्यों में तेजी से अपना पांव पसार रहे लंपी वायरस को लेकर महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रमुख नाना पटोले ने बेतुका बयान दिया है. कांग्रेस नेता नाना पटोले ने लंपी वायरस के फैलने के लिए बीजेपी और केंद्र को कसूरवार ठहराया है. नाना पटोले ने कहा कि यह लंपी रोग कई सालों से नाइजीरिया में चल रहा था. चीतों को भी वहीं से लाया गया है. केंद्र सरकार ने जानबूझकर किसानों को नुकसान पहुंचाने के लिए ऐसी व्यवस्था बनाई है.

बताते चलें कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के जन्मदिवस पर 8 चीतों को नाइजीरिया से नहीं, बल्कि नामीबिया से लाया गया था. इन सभी चीतों को मध्य प्रदेश के कुनो नेशनल पार्क में छोड़ा गया है. नाना पटोले ने मीडिया से बात करते हुए कहा कि ये जो लंपी वायरस के रोग है, वो नाइजीरिया के हैं. वहां पर कई सालों से लंपी वायरस था. ये जो चीतों को भारत लाया गया है, नाइजीरिया से लाया गया है. चीतों के धब्बे और गायों पर इस वायरस से धब्बे एक जैसे हैं. केंद्र सरकार ने किसानों को नुकसान पहुंचाने के लिए ये कदम जानबूझकर कर उठाया हैं.

इधर, नाना पटोले के बयान पर प्रतिक्रिया देते हुए बीजेपी विधायक राम कदम ने कहा कि कांग्रेस को उनके बयान के लिए नोबेल पुरस्कार मिलना चाहिए. यह हास्यास्पद है. नाना पटोले महाराष्ट्र के कांग्रेस अध्यक्ष बनने के बाद से सुर्खियों में हैं. उन्होंने जो आरोप लगाए हैं वे पूरी तरह से निराधार हैं. अगर, कांग्रेस नेतृत्व के पास इस तरह का तर्क है, तो पूरी कांग्रेस पार्टी को नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किया जाना चाहिए. राम कदम ने कहा कि हम अपने देश में चीतों को लाए. यह गर्व का क्षण था और सराहना करने के बजाय कांग्रेस नेतृत्व इसे लंपी वायरस से जोड़ रहा है. ऐसा सिर्फ लोगों को गुमराह करने के लिए किया जा रहा है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस नेता आगे आएं और माफी मांगें.

बता दें कि लंपी वायरस के मामले शुरू में राजस्थान और गुजरात में पाए गए थे. बाद में यह बीमारी पंजाब, यूपी, मध्य प्रदेश, हरियाणा और अब महाराष्ट्र समेत कई राज्यों में फैल गया. इसकी चपेट से कई पशुओं की मौत हो गई. इस वायरस के लिए स्वस्थ पशुओं को गोट पॉक्स का वैक्सीन दिया जा रहा है. डॉक्टरों के मुताबिक, लंपी वायरस पोक्सो वायरस के जैसा ही फैलता है, जो कि कीड़े, मक्खी मच्छर की वजह से होता है.

Sunil Kumar Dhangadamajhi

𝘌𝘥𝘪𝘵𝘰𝘳, 𝘠𝘢𝘥𝘶 𝘕𝘦𝘸𝘴 𝘕𝘢𝘵𝘪𝘰𝘯 ✉yadunewsnation@gmail.com

http://yadunewsnation.in
error: Content is protected !!