सुधीर धंगड़ामाझी की पुस्तक “खंगार” ने बेस्टसेलर पुरस्कार जीता

सुधीर धंगड़ामाझी की पुस्तक “खंगार” ने बेस्टसेलर पुरस्कार जीता

भुबनेश्वर: युवा कहानीकार सुधीर कुमार धंगड़ामाझी की ‘खंगार’ को पिछले साल पाठकों द्वारा सबसे लोकप्रिय कहानी पुस्तक के रूप में टाइमपास बेस्टसेलर पुरस्कार से सम्मानित किया गया है। प्रकाशन गृह ‘टाइमपास’ की ओर से भुवनेश्वर के उत्कल रंगमंच में आयोजित ‘उतसाहित्य’ समारोह में श्री धंगड़ामाझी को सम्मानित किया गया। टाइमपास के निदेशक सरोज बल की अध्यक्षता में आयोजित समारोह में प्रसिद्ध उपन्यासकार विभूति पटनायक, प्रसिद्ध हिंदी लेखक ध्रुब शुक्ला, प्रख्यात कथाकार गौरहरि दास, ओड़िआ भाषा, साहित्य, संस्कृति विभाग के निदेशक और लेखक रंजन कुमार दास शामिल थे। उल्लेखनीय है कि टाइमपास द्वारा 2018 में प्रकाशित ‘खंगार’ को ओड़िआ पाठकों ने खूब सराहा, जबकि यह पुस्तक साहित्य अकादमी युवा पुरस्कार-2020 के अंतिम चरण में पहुंच चुका था। पुस्तक की कहानियों में युवाओं, आदिवासियों और आम लोगों के जीवन, सपने, प्यार, संघर्ष, भावनाओं और विद्रोह की बर्णन है, जबकि ओड़िआ कहानियों में कालाहांडीआ शब्द के इस्तेमाल ने उन्हें और भी दिलचस्प बना दिया है। श्री धंगड़ामाझी आभारी हैं कि पुस्तक को पाठकों ने अमेज़न, विभिन्न पुस्तक मेलों और किताबों की दुकानों से बड़ी संख्या में खरीदी हैं। उन्होंने पुस्तक के प्रकाशक, आलोचकों, शुभचिंतकों और मीडिया प्रतिनिधियों को भी धन्यवाद दिया। उन्होंने कहा, “यह पुरस्कार साहित्य साधना के लिए प्रेरणा है और यह मुझे जिम्मेदार बनाएगा।”

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *