कहीं आप के भी फेफड़े पर तो नहीं हो रहा संक्रमण, आज ही ऐसे लगाए पता

Lung

फेफड़े का महत्व

फेफड़े का हमारे शरीर में काफी महत्व है. फेफड़े से हमारे शरीर का पीएच बैलेंस होता है. फेफड़ा का सबसे बड़ा काम शरीर में बीमारियां फैलाने वाले बैक्टेरिया से शरीर को बचाना है. ऑक्सीजन भी सबसे पहले लंग्स में ही पहुंचता है.

सर्दी-खांसी

ठंड का असर

सर्दी के मौसम का सबसे अधिक असर लंग्स पर ही पड़ता है. जिसे ज्यादा सर्दी खांसी होती है वह इस बात का संकेत है कि आपके फेफड़े कमजोर हैं या वे संक्रमित हो रहे हैं. जानते हैं वो क्या-क्या संकेत हैं.

chronic cough

क्रोनिक कफ

क्रोनिक कफ तब होता है जब लगातार सीने में भरपूर दर्द महसूस हो और यह स्थिति लगातार 8 हफ्ते तक बनी रहे. यह फेफड़े के खराब होने का संकत हो सकता है.

cunic mucus

क्रोनिक म्यूकस

लंग्स के अंदर म्यूकस का फॉर्मेशन होता है. यह फेफड़ को बाहरी बैक्टेरिया के प्रहार से रोकता है. अगर ये ज्यादा मात्रा में बनने लगे तो यह फेफड़े में बीमारी का संकेत है.

cold n cough

सांसो में घरघराहट

अगर आपको सांस लेने में घरघराहट होने लगे या किसी तरह की आवाज हो तो इसका मतलब है कि आपके लंग्स के वायुमार्ग की नली में कुछ फंसा है और वह संकीर्ण हो रही है. तुरंत डॉक्टर के पास जाएं.

breathing problems

सांस लेने में तकलीफ 

अगर आपको सांस लेने में तकलीफ होने लगे और इसके साथ सांस फूलने की समस्या ज्यादा दिनों तक लगातार हो तो आपको सतर्क होने की जरूरत है.

chest pain

छाती में दर्द 

छाती में कभी-कभार दर्द होना आम बात है. अगर यह दर्द आपको लगातार होता है तो ये परेशानी वाली बात है. यदि एक महीने से ज्यादा हो तो ये गंभीर बीमारी के संकेत हैं.

cold

खांसी के साथ खून आना

यह बात सबको पता है कि खांसी के साथ खून आना किसी बीमारी के संकेत हैं. अगर ऐसा हो तो तुरंत ही अपने डॉक्टर को संपर्क करें.

khashi

खांसी में अधिक मात्रा में बलगम निकलना

खांसी का मुख्य काम फेफड़ों द्वारा बनाए गए बलगम को आपके शरीर से बाहर निकलना है. कभी कभी इस बलगम में रक्त भी पाया जा सकता है. ब्रोंकाइटिस या निमोनिया जैसी बीमारियों में, आपके फेफड़ों से अलग-अलग रंगों में गाढ़ा बलगम निकल सकता है, ऐसा होने पर तुरंत जांच कराएं.

Sunil Kumar Dhangadamajhi

𝘌𝘥𝘪𝘵𝘰𝘳, 𝘠𝘢𝘥𝘶 𝘕𝘦𝘸𝘴 𝘕𝘢𝘵𝘪𝘰𝘯 ✉yadunewsnation@gmail.com

http://yadunewsnation.in