US Deadly Weather: अमेरिका में मौसम हुआ और खतरनाक, अब तक 32 लोगों की मौत, कार के अंदर मिल रही हैं लाशें – deadly weather in us killed many people on the eve of christmas

न्‍यूयॉर्क: अमेरिका के कई राज्‍यों में मौसम जानलेवा बना हुआ है। क्रिसमस के मौके पर इस मौसम ने पूरे देश में 32 लोगों की जान ले ली है। माना जा रहा है कि मृतकों का आंकड़ा बढ़ सकता है। कुछ लोग अपनी कार के अंदर ही फंसे रह गए हैं और इस वजह से अथॉरिटीज मान रही हैं कि उनकी मौत हो सकती है। लाखों घरों की बिजली गुल है और बिजनेस ठप पड़े हैं। न्‍यूयॉर्क में हालात बद से बदतर हो गए हैं। यहां पर बफैलो सिटी में एरी झील तक जम गई है। यह जगह न्‍यूयॉर्क के पश्चिम में है। इस मौसम ने क्रिसमस और न्‍यू ईयर की छुट्टियों पर खासा असर डाला है। मौसम विभाग का कहना है कि इस पूरे हफ्ते मौसम इसी तरह से रहेगा और लोगों को घरों में ही रहने की हिदायत दी गई है।

बढ़ सकती है मृतकों की संख्‍या

एरी काउंटी के कार्यकारी मार्क पोलोनकार्ज ने इस बात की पुष्टि की है कि बर्फीले तूफान की वजह से मारे जाने वाले लोगों की संख्‍या में इजाफा हो सकता है। कुछ लोगों की लाश कार में मिली तो कुछ बर्फ में दबे हुए पाए गए। शुक्रवार शाम से एरी काउंटी में ड्राइविंग को बैन कर दिया गया था। इसके बाद भी सैकड़ों की संख्‍या में मोटोरिस्‍ट्स घर से निकले और खराब मौसम में फंस गए। उनकी मदद के लिए नेशनल गार्ड ट्रूप्‍स को बुलाना पड़ गया। मगर लगातार हो रही बर्फबारी की वजह से बचाव कार्य ठीक से नहीं हो सका। मार्क ने ट्विटर पर लिखा, ‘यह वह क्रिसमस नहीं है जिसकर उम्‍मीद हमनें की थी। जिन लोगों ने इस मौसम की वजह से अपनों को खोया है, उनसे मेरी गहरी संवेदनाएं हैं।’ किसी को भी नहीं मालूम था कि तूफान का असर इतना भयानक होगा।

तेजी से गिर रहा तापमान

कनाडा की ग्रेट लेक्‍स से लेकर मैक्सिको के रियो ग्रैंड नदी से लगी सीमा तक हालात खराब हैं। अमेरिका की करीब 60 फीसदी आबादी को इस समय खराब मौसम की चेतावनी से जूझना पड़ रहा है। नेशनल वेदर सर्विस का कहना है कि पूर्व से लेकर एपलाचियंस माउंटेन तक तापमान काफी तेजी से गिरता जा रहा है। 58 साल के जॉन बर्न्‍स जो उत्‍तरी बफैलो में रहते हैं, उनकी मानें तो वह और उनका पूरा परिवार घर के अंदर 36 घंटे के लिए फंस गया था। उन्‍होंने इस मौसम को काफी बेदर्द बताया है। उनकी मानें तो कोई अपने कुत्‍तों तक को टहलाने के लिए नहीं निकल नहीं रहा है। दो दिनों तक सबकुछ बिल्‍कुल बंद पड़ा था।
US Weather News: आर्कटिक ब्‍लास्‍ट के बाद अमेरिका खतरनाक में बर्फीला तूफान, 30 मिनट में 40 डिग्री तक गिरा तापमान

जानलेवा और खतरनाक स्थिति

न्‍यूयॉर्क की गर्वनर केथी होचुल ने रविवार को मीडिया को बताया कि राष्‍ट्रपति जो बाइडेन ने उनके अनुरोध को मानते हुए मौसम को एक आपदा घोषित करने का फैसला किया है। कैथी की मानें तो मौसम में निकलना बिल्‍कुल युद्ध लड़ने जैसा हो गया है। सड़क के दोनों तरफ गाड़‍ियां फंसी हैं और यह वाकई डरावना है। कैथी खुद बफैलो की रहने वाली हैं। उन्‍होंने मौसम की इस स्थिति को खतरनाक और जानलेवा करार दिया है। साथ ही नागरिकों से अपील की है कि वो घरों के अंदर ही रहें।

एयरपोर्ट पर फंसे यात्री

तूफान की वजह से मेन से लेकर सिएटल तक बिजली गायब रही। लेकिन काफी मशक्‍कत के बाद हीटिंग और बिजली को अम‍ेरिका में बहाल कर लिया गया। पावरआउटेज.यूएस के मुताबिक 17 लाख घरों में बिजली गायब थी। लेकिन रविवार तक सिर्फ दो लाख ग्राहकों के घर अंधेरे में थे। क्रिसमस के मौके पर काफी यात्री एयरपोर्ट्स पर फंसे थे। उनकी फ्लाइट या तो कैंसिल हो गई थी या फिर लेट थी।

43 इंच तक बर्फबारी

अटलांटा, शिकागो, डेनेवर, डेट्रॉयट और न्‍यूयॉर्क तक एयरपोर्ट्स का बुरा हाल था। बफैलो एयरपोर्ट को तो बंद ही रखा गया था। नेशनल वेदर सर्विस की मानें तो रविवार सुबह तक 43 इंच तक बर्फबारी रेकॉर्ड की गई थी। बफैलो में एक घंटे तक 2 से 3 इंच की बर्फबारी होती रही।

Sunil Kumar Dhangadamajhi

𝘌𝘥𝘪𝘵𝘰𝘳, 𝘠𝘢𝘥𝘶 𝘕𝘦𝘸𝘴 𝘕𝘢𝘵𝘪𝘰𝘯 ✉yadunewsnation@gmail.com

http://yadunewsnation.in
error: Content is protected !!