पूर्व पाक पीएम इमरान खान को अटक जेल से अडियाला जेल शिफ्ट करने की मांग, PTI ने हाई कोर्ट का किया रुख

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान को अटक जेल से अडियाला जेल में शिफ्ट करने की मांग हो रही है. इसको लेकर उनकी पार्टी ने सोमवार को इस्लामाबाद हाई कोर्ट में याचिका दायर की है. याचिका में जेल में बंद पूर्व प्रधानमंत्री को उनकी समृद्ध पारिवारिक पृष्ठभूमि, सामाजिक और राजनीतिक स्थिति को ध्यान में रखते हुए पंजाब प्रांत की अटक जेल से रावलपिंडी की उच्च सुरक्षा वाली अडियाला जेल में स्थानांतरित करने का अनुरोध किया.

इमरान खान से मिलने की मांगी इजाजत

पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) पार्टी के वकील ने एक याचिका में इस्लामाबाद हाई कोर्ट से अपदस्थ प्रधानमंत्री को वहां स्थानांतरित करने का अनुरोध किया जहां ए-श्रेणी की सुविधाएं उपलब्ध हैं. उन्होंने कहा कि उनके परिवार, वकीलों और उनके चिकित्सक डॉ फैसल सुल्तान को उनसे मिलने की इजाजत दी जानी चाहिए. उन्होंने कहा कि अपने वकीलों, कानूनी टीम और परिवार से मिलना पार्टी अध्यक्ष का मौलिक अधिकार है.

तोशाखाना मामले में इमरान खान को तीन साल की सजा

इमरान खान (70) को इस्लामाबाद की एक अदालत द्वारा तोशाखाना भ्रष्टाचार मामले में भ्रष्ट आचरण का दोषी पाने और तीन साल जेल की सजा सुनाए जाने के कुछ समय बाद शनिवार को लाहौर में उनके घर से गिरफ्तार कर लिया गया था. उनकी गिरफ्तारी के बाद, उन्हें पंजाब प्रांत के अटक शहर में अटक जेल में स्थानांतरित कर दिया गया था, हालांकि अदालत ने अपने आदेश में अधिकारियों को उन्हें रावलपिंडी की उच्च सुरक्षा वाली अडियाला जेल में रखने का निर्देश दिया था.

अटक जेल में ‘सेल नंबर 2’ में कैद हैं इमरान खान

जियो न्यूज की खबर के अनुसार यह बताया गया कि खान को अटक जेल में ‘सेल नंबर 2’ में स्थानांतरित कर दिया गया है, जहां उच्च सुरक्षा और बेहतर सुविधाएं हैं. ‘सेल नंबर 2’ का आकार पिछली कोठरी से बड़ा है और इसमें एक मेज, कुर्सी, गद्दा और पलंग है.

याचिका में इमरान खान की शिक्षा, आदतों और क्रिकेट टीम की कप्तानी का दिया गया हवाला

याचिका में कहा गया, याचिकाकर्ता बचपन से ही एक संपन्न परिवार से हैं, और बाद में अपनी शिक्षा, आदतों और समाज में सामाजिक और राजनीतिक स्थिति के कारण वह बेहतर जीवन जीते आए हैं…ब्रिटेन के ऑक्सफोर्ड विश्वविद्यालय से स्नातक हैं और …पाकिस्तान की राष्ट्रीय क्रिकेट टीम के कप्तान रहे हैं. इसमें कहा गया, याचिकाकर्ता की सामाजिक और राजनीतिक स्थिति, उनकी शिक्षा और बेहतर जीवन शैली के आदी होने को ध्यान में रखते हुए, याचिकाकर्ता पाकिस्तान जेल नियमों के नियम 248 के साथ पढ़े गए नियम 243 के संदर्भ में ए-क्लास सुविधाओं के हकदार हैं. खान के वकील नईम हैदर पंजोथा के माध्यम से सोमवार को दायर याचिका में कहा गया कि खान को 9 गुणा 11 फुट की छोटी कोठरी में रखा जा रहा है.

इमरान खान के लिए चिकित्सकों की एक टीम नियुक्त

जियो न्यूज की खबर के अनुसार, पीटीआई अध्यक्ष के लिए चिकित्सकों की एक टीम नियुक्त की गई है और वह दो पालियों में उनकी जांच करेगी. उनकी गिरफ्तारी के बाद, न्यायाधीश हुमायूं दिलावर ने अपने फैसले में लिखा पीटीआई अध्यक्ष के खिलाफ संपत्ति की गलत घोषणा के आरोप साबित हो गए हैं और खान को तीन साल की जेल तथा एक लाख रुपये के जुर्माने के साथ-साथ उनकी तत्काल गिरफ्तारी के लिए गिरफ्तारी वारंट जारी किया.

इमरान खान का दावा, उन्हें खुले शौचालय वाले एक अंधेरे कमरे में रखा गया

पंजोथा ने सजा के खिलाफ अपील की प्रक्रिया शुरू करने के लिए कानूनी कागजात पर हस्ताक्षर करवाने के लिए जेल अधिकारी की उपस्थिति में खान से एक घंटे 45 मिनट तक मुलाकात की. वकील ने मीडिया को बताया कि खान ने उन्हें बताया कि उन्हें खुले शौचालय वाले एक अंधेरे कमरे में रखा गया है, जहां दिन में मक्खियां और रात में चींटियां आती रहती हैं. पंजोथा ने खान को उद्धृत करते हुए कहा, मुझे एक अंधेरे कमरे में रखा गया है जहां कोई टेलीविजन या अखबार उपलब्ध नहीं है. किसी को भी मुझसे मिलने की इजाजत नहीं है, जैसे मैं कोई आतंकवादी हूं. भोजन के बारे में बात करते हुए खान ने सिर्फ इतना कहा कि उन्हें जो कुछ भी खाने योग्य मिल रहा है उसके लिए वह खुदा के शुक्रगुजार हैं. उन्होंने वकील से यह भी कहा कि मीडिया के माध्यम से सभी को बता दें कि मैं मर जाऊंगा, लेकिन दासता कभी स्वीकार नहीं करूंगा.

इमरान खान ने पत्नी बुशरा बीबी से मिलने की इजाजत मांगी

पंजोथा ने कहा कि खान ने पार्टी की कानूनी टीम को उन लोगों के खिलाफ कानूनी कार्रवाई करने का निर्देश दिया जिन्होंने जमान पार्क पर हमला किया और उनका अपहरण किया. वकील ने कहा, उन्होंने यह भी कहा कि पीटीआई कोर कमेटी उनके परामर्श से आगे का रास्ता तय करेगी… कोई भी निर्णय एक व्यक्ति द्वारा नहीं लिया जाएगा. वकील ने खान को उद्धृत करते हुए कहा कि जनता को शांतिपूर्ण प्रदर्शन और दासता के खिलाफ जंग जारी रखनी चाहिए. खान ने यह भी मांग की कि उनकी पत्नी बुशरा बीबी को उनसे मिलने की इजाजत दी जाए.

Sunil Kumar Dhangadamajhi

𝘌𝘥𝘪𝘵𝘰𝘳, 𝘠𝘢𝘥𝘶 𝘕𝘦𝘸𝘴 𝘕𝘢𝘵𝘪𝘰𝘯 ✉yadunewsnation@gmail.com

http://yadunewsnation.in
error: Content is protected !!