पाकिस्‍तान के पूर्व PM इमरान खान ने को सता रही गिरफ्तारी की चिंता, शहबाज के मंत्री ने बताया आगे क्‍या होगा

इस्‍लामाबाद: पाकिस्‍तान तहरीक-ए-इंसाफ (PTI) के मुखिया और पूर्व प्रधानमंत्री इमरान खान ने अपनी टीम को जानकारी दी है कि देश की गठबंधन सरकार उन्‍हें कभी भी गिरफ्तार कर सकती है। इमरान के खिलाफ एक महिला जज के खिलाफ टिप्‍पणी करने पर वॉरेन्‍ट जारी किया गया है। इस पूरे मसले पर इमरान ने शनिवार को एक प्राइवेट न्‍यूज चैनल को दिए इंटरव्‍यू में खुल कर बात की। अप्रैल में सत्‍ता गंवा चुके इमरान देश में ताजा चुनाव कराने की बात कर रहे हैं और इसी सिलसिले में वह लगातार रैलियां कर रहे हैं। इसी तरह की रैली में उन्‍होंने महिला जज पर टिप्‍पणी की थी जिसके बाद उनकी मुसीबतें बढ़ गई हैं।

इमरान ने अपनी टीम को जानकारी दी है कि शहबाज शरीफ की सरकार उन्‍हें किसी भी समय हिरासत में ले सकती है। इमरान की मानें तो सरकार ऐसा इसलिए करेगी क्‍योंकि उसमें नैतिकता और लोकतांत्रिक मूल्‍यों की कमी है। शनिवार को एक खास इंटरव्‍यू में कहा कि वर्तमान सरकार का एकमात्र लक्ष्‍य है चोरी के पैसे को सुरक्षित करना। उनका दावा था कि सरकार में बैठे लोग पिछले तीन सालों से एक एनआरओ हासिल करने की कोशिशों में लगे हैं। इमरान ने एक रैली में देश के पुलिस ऑफिसर्स से लेकर महिला जज तक सरकार में आने के बाद गिरफ्तार करने की धमकी दी थी। 

इमरान ने इस इंटरव्‍यू में कहा, ‘मैं झूठ नहीं बोलना चाहता हूं और न ही मैं सच बोल सकता हूं।’ इमरान ने यह बात उस सवाल के जवाब में कही जो राष्‍ट्रपति भवन में हुई मीटिंग से जुड़ा था। इमरान का कहना था कि वह हमेशा से मानते हैं कि कई बातों पर चर्चा की जा सकती है। पूर्व पीएम इमरान की मानें तो पीटीआई का सिर्फ एक लक्ष्‍य है कि देश को दलदल से निकाला जाए और यह सिर्फ तभी संभव है ज‍ब देश में आजाद और निष्‍पक्ष चुनाव हों।

इमरान ने कहा कि वर्तमान सरकार ने पीटीआई सरकार को एफएटीएफ पर ब्‍लैकमेल किया क्‍योंकि उन्‍हें उनसे एक एनआरओ चाहिए था। जब व‍ह विपक्ष में थे तो उनकी बस एक मांग थी कि चुनाव कराए जाएं। अब जब वह सत्‍ता में हैं तो इससे दूर भाग रहे हैं। पूर्व पीएम ने मरियम नवाज और देश के विदेश मंत्री बिलावल भुट्टो को नौसिखिया करार दिया है जो मूर्खों के साथ सत्‍ता में हैं।

पीटीआई चीफ ने पीएम आवास की सुरक्षा को लेकर भी बातें कीं। कुछ दिनों पहले इमरान का एक ऑडियो वायरल हो गया था। इसके बाद से ही पाकिस्‍तान में बवाल मचा हुआ है। इमरान को लगता है कि किसी ने उनकी बातचीत को टैप कर लिया था और लगातार पीएम की बातचीत लीक की जा रही है। इमरान के मुताबिक यह सुरक्षा में बड़ी चूक का मामला है।

हालांकि इमरान के दावों को सरकार की तरफ से खारिज कर दिया गया है। शहबाज सरकार में गृह मंत्री राणा सनाउल्‍ला खान ने कहा कि सरकार इमरान को हिरासत में नहीं लेगी क्‍योंकि उनके खिलाफ जमानती वॅारेन्‍ट जारी हुआ है। इसे इस्‍लामाबाद की एक स्‍थानीय कोर्ट से जारी किया गया है। सनाउल्‍ला ने जियो न्‍यूज के ‘नया पाकिस्‍तान’ कार्यक्रम में कहा कि इमरान का अरेस्‍ट वॉरेन्‍ट जारी होना ही था क्‍योंकि वो मजिस्‍ट्रेट के सामने पेश नहीं हुए थे। जज की तरफ से इसके बाद अरेस्‍ट वॉरेन्‍ट जारी किया गया। उन्‍होंने कहा कि यह एक सामान्‍य वॉरेन्‍ट है जोकि जमानत के साथ है। सनाउल्‍ला ने कहा कि इमरान ने जो कुछ किया है वह कभी न माफ करने वाला अपराध है।

Sunil Kumar Dhangadamajhi

𝘌𝘥𝘪𝘵𝘰𝘳, 𝘠𝘢𝘥𝘶 𝘕𝘦𝘸𝘴 𝘕𝘢𝘵𝘪𝘰𝘯 ✉yadunewsnation@gmail.com

http://yadunewsnation.in
error: Content is protected !!